यह चुनाव रीवा की आन-बान-शान और स्वाभिमान से जुड़ा है-राजेन्द्र शुक्ल

रीवा 25नवंबर। रीवा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा प्रत्याशी राजेन्द्र शुक्ल ने कहा है कि यह चुनाव रीवा की आन-बान-शान और स्वाभिमान का है और मुझे विश्वास है कि मतदाता इस पर हरगिज आँच नहीं आने देंगे।

श्री शुक्ल ने कहा कि रीवा के विशिष्टता की गूँज पूरे देश तक फैली है इसलिए सभी की नजर यहां के चुनाव परिणाम पर नहीं अपितु भारतीय जनता पार्टी की जीत के कीर्तिमान पर है। यहां के विवेकशील और जागरूक मतदाताओं में जो उत्साह है उससे अब कहीं कोई संशय की बात नहीं कि रीवा विधानसभा 28 नवबंर को चुनावी लोकतंत्र का इतिहास रचने जा रहा है।

श्री शुक्ल ने एक वक्तव्य में कहा कि रीवा के विकास की बहस 56 बनाम
15बरस की है। जिस रीवा को आज बेंगलुरु, लखनऊ, पटना, भुवनेश्वर और भोपाल के मुकाबले खड़ा होना चाहिए था, 56 वर्ष के कांग्रेस शासन ने उसे कस्बे से ज्यादा उठने नहीं दिया था। 56 वर्ष तक रीवा लूट, शोषण, उपेक्षा और अवहेलना का शिकार रहा है। आज रीवा का महानगरीय विकास उन्हीं लोगों को अखर रहा है जो उसके शोषण और लूट के भागीदार थे।

भाजपा प्रत्याशी श्री शुक्ल ने कहा कि आज वही तत्व फिर ललचाई नजर से रीवा को देख रहे हैं। ये वही तत्व हैं जिनके आतंक से माँ-बहनों का बाजार में निकलना, स्कूल जाना भी दुष्कर था। ये वही तत्व हैं जिनके आतंक और अपराध से व्यापारी सहम जाते थे। ये वही तत्व हैं जो दफ्तरों में छूरे कट्टे की धौंस दिखाकर कर्मचारियों और अधिकारियों पर ठेके हड़पने के लिए अड़ी ड़ालते थे। श्री शुक्ल ने कहा कि मध्यप्रदेश की भाजपा सरकार ने रीवा को न सिर्फ विकास की स्टीयरिंग में बैठाकर तरक्की की रफ्तार दी अपितु अराजक और अपराधी तत्वों से भयमुक्त किया।

श्री शुक्ल ने कहा कि प्रदेश में फिर से भारी बहुमत के साथ भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने जा रही है। सत्ता में आने के बाद रीवा में अपराधी तत्वों और उनके आकाओं पर लगाम कसने तथा रीवा को भय व आतंक से पूर्णतया मुक्त करना हमारी प्राथमिकताओं में होगा।

श्री शुक्ल ने कहा कि चुनाव तात्कालिक मसला नहीं है इससे पीढियों का भविष्य जुड़ा है, इससे विकास की वह इबारत भी जुड़ी है जिससे अभी पूरा लिखा जाना बाकी है। भाजपा प्रत्याशी ने कहा कि रीवा में अब तक विकास के जो काम हुए हैं वह तो अभी एक झलक मात्र है, हमारा लक्ष्य 2023 तक रीवा को इंदौर ओर पुणे-बेंगलुरू के मुकाबले खड़ा कर देने का है। हमारे विकसित रीवा में बिजनेस और आईटी पार्क, विश्वस्तरीय शिक्षा और चिकित्सा के संस्थान उन्नत अधोसंरचना, हर हाथ को काम होगा। रीवा की परिधि में आने वाले गाँवों को वैसे ही अत्याधुनिक बनाया जाएगा जैसे बेंगलुरू और मैसूर कारीडोर के गाँवों को बनाया गया है। रीवा विधानसभा के ग्रामीण क्षेत्र में फूडप्रोसेसिंग इंडस्ट्री की श्रृंखला स्थापित होगी। हर गांव अपनी विशिष्टता के लिए जाना जाएगा।

राजेंद्र शुक्ल ने कहा कि हम वायदे करने से ज्यादा करके दिखाने में विश्वास करते हैं। हमारे पास रीवा के चहुंमुखी विकास की पुख्ता योजनाएं हैं और उन्हें हम यथार्थ के धरातल पर उतारकर दिखाएंगे।

भाजपा प्रत्याशी श्री शुक्ल ने कहा कि मतदाता बंधु इस चुनाव में सक्रिय अपराधी और अराजक तत्वों के भय और आतंक में न आएं। ये पानी के बुलबुले और मौसमी मेढ़क की तरह हैं चुनाव बाद इनका टर्राना अपने आप बंद हो जाएगा। भयमुक्त होकर जमके मतदान करें और उसके साथ ही रीवा की आन-बान-शान और स्वाभिमान को और भी बुलंद करें।

Facebook Comments
0 Shares

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *