आलेख Archive

जन – गण – तंत्र पर हावी न होने पाए गन – मन – तंत्र

26 जनवरी 1950 को संविधान को अंगीकार तथा भारत को एक

हमें ‘ही’.. ‘शी’.. में फंसा कर वह ‘झी’ हो रहे

अंग्रेजी भी अजीब है पकड़ो तो नखरे दिखाएगी और छोड़ दो

राम मंदिर भी क्या कांग्रेस बनवायेगी ? बस ऐसे ही पूछ लिया

अब तो आम लोग भी कहने लगे हैं कि क्या राम

पालतू हो चाहे आवारा गौवंश भारत पर भार नहीं भाग्यविधाता बने

लगभग 20 करोड़ गौवंश वाले भारत को इनको बोझ की तरह

गौ माता को भी हमने समस्या बना लिया

1 जनवरी 2019. नए होशियार चंदों का काम निराला ही रहता

जिनके परिश्रम की पराकाष्ठा से निखर रहा विन्ध्य और बढ रहा मध्यप्रदेश है

17 अगस्त 1964 में रीवा विश्व प्रसिद्ध संविदाकार, क्षेत्र के महान

आओ खेलें खेल भारत बंद बंद

भारत जितना खुला नहीं उससे ज्यादा तो बंद रह गया रहा

राजतंत्र की इमारत बनाम लोकतंत्र की इमारत

राजतंत्र का दौर रहा हो चाहे गुलामी का दौर सबकी सोच

भारतीय राजनीति के अटल पुरोधा अटल जी

25 दिसंबर 1924 को कृष्ण बिहारी वाजपेयी तथा कृष्णा वाजपेयी के

कांग्रेस रिटर्न तो टाइगर अभी जिंदा है

लगातार पराजय झेल रही कांग्रेस ने तीन हिंदी भाषी राज्य और

योगी मोदी के प्रयागराज का पहला अर्ध कुंभ

प्रयागराज में 15 जनवरी से अर्ध कुम्भ आरंभ हो रहा है।